उद्यम रजिस्ट्रेशन(UDYAM Registration) क्या हे और यह लघु उद्योगों के लिए क्यों जरुरी हे ?

udyam registration for MSME

उद्यम रजिस्ट्रेशन क्या हे ?(What is UDYAM registration?)


उद्यम पंजीकरण, जिसे एमएसएमई पंजीकरण के रूप में भी जाना जाता है, एक सरकारी पंजीकरण और मान्यता प्रमाणपत्र(UDYAM registration certificate) है। यह छोटे / मध्यम व्यवसायों या उद्यमों को प्रमाणित करता है। इसमें 16 अंको का एक रजिस्ट्रेशन नंबर प्राप्त होता हे। 

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय (MSME), एक सरकारी निकाय है जो भारत में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों से संबंधित कानूनों के निर्माण, प्रशासन, नियमों के लिए जिम्मेदार है।

यह कृषि के बाद भारत में दूसरा सबसे बड़ा क्षेत्र है। एमएसएमई क्षेत्र कुल जीडीपी में 8%, भारत के कुल औद्योगिक रोजगार का 45%, देश के कुल निर्यात में 40% शेयर और 8000 से अधिक प्रकार के उत्पाद इन उद्योगों में निर्मित हैं।

जैसा कि हम जानते हैं कि लघु उद्योग किसी देश की रीढ़ होते हैं और जैसे-जैसे ये छोटे क्षेत्र स्वाभाविक रूप से विकसित होते हैं, वैसे-वैसे देशों की अर्थव्यवस्था भी बढ़ती जाएगी। इन कारणों से, सरकार नियमों और विनियमों को लागू करती है ताकि ये छोटे पैमाने के व्यवसाय सुचारू रूप से चलें, और यह प्रधानमंत्री के स्किल इंडिया कार्यक्रम को भी बढ़ावा देता है।

अब MSME पंजीकरण /उद्योग आधार पंजीकरण को उद्यम रजिस्ट्रेशन के रूप में जाना जाता है। यदि कोई छोटे विनिर्माण या सेवा उद्योग के रूप में स्टार्टअप करना चाहता है, तो उसे उद्यम(UDYAM) के साथ खुद को पंजीकृत करना होगा।

पंजीकरण प्रक्रिया ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों सुविधाएं उपलब्ध हैं और यह पंजीकरण बैंक ऋण, प्रशिक्षण, कराधान और सब्सिडी के संदर्भ में बहुत सारे लाभ प्रदान करता है।

पहले MSME को दो श्रेणियों में बांटा गया था विनिर्माण उद्यम और सेवा उद्यम और इन्हें कुल निवेश के मामले में फिर से सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों के रूप में वर्गीकृत किया गया है।

लेकिन इसमें संशोधन किया गया है और दोनों शर्तों का निर्माण और सेवाओं के रूप में निष्कर्ष निकाला गया है। कुल निवेश और टर्नओवर के मामले में इसे सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों के रूप में वर्गीकृत किया गया है।



Micro
Small
Medium
Manufacturing And Services
Investments up to Rs 1 crore and turnover up to Rs 5 crore 
Investment up to Rs 10 crore and turnover up to Rs 50 crore
Investment up to Rs 20 crore and turnover up to Rs 100 crore

उद्यम पंजीकरण प्रक्रिया (UDYAM  Registration Process)

पंजीकरण करने के लिए उद्योग के मालिक को एक ही फॉर्म भरना होगा जो की ऑनलाइन उद्यम रजिस्ट्रेशन पोर्टल (UDYAM registration portal) https://udyamregistration.gov.in/ से किया जा सकता है और पंजीकरण शुल्क की आवश्यकता नहीं है। एक बार पूरा किया हुआ फॉर्म अपलोड हो गया और फिर पंजीकरण संख्या और प्रमाण पत्र बन गया। किसी एंटरप्राइज़ के लिए यह प्रक्रिया एक बार ही किया जाता हे और नवीनीकरण की जरुरत नहीं है।

उद्यम सर्टिफिकेट


उद्यम के लिए जरूरी दस्ताबेज (Documents required for UDYAM registration)

MSME उद्यम पंजीकरण निःशुल्क, पेपरलेस और स्व-घोषणा पर आधारित है। रजिस्ट्रेशन के लिए मुख्यत आधार नंबर ही काफी हे। 
  • मालिक / साझेदार का आधार नंबर,
  • पैन कार्ड एबं GST नंबर,
  • उद्योग का नाम,
  • व्यावसायिक पता, 
  • और कुछ सामान्य कानूनी जानकारी।

उद्यम रजिस्ट्रेशन के लाभ (Benefits of UDYAM Registration)

भारत सरकार उद्यमियों और लघु उद्योग को बढ़ोतरी देने के लिए हर समय जागरूक हे। इसी लिए समय समय पर नए नए अवसर देता हे। उद्यम भारत सरकार का इन्ही में से एक पहल हे। उद्यम पंजीकरण से एक संस्थान को काफी सारे लाभ मिलते हे।  

यदि आप एक उद्यमी हैं और कोई लघु उद्योग शुरू करना चाहते हैं या फिर कोई मौजूदा उद्योग के मालिक हैं, तो आपको निश्चित रूप से अपने संगठन का उद्यम पंजीकरण करना चाहिए और हमारे देश की बढ़ती अर्थव्यवस्था का एक अभिन्न अंग बनना चाहिए।

स्मॉल बिज़नेस आइडियाज(small business ideas) और फ्रीलांसिंग जॉब्स(freelancing jobs) से जुड़े जानकारी के लिए कृपया हमें फॉलो करें। 


एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने